मोटी लड़की की चुद का स्वाद (2)

दोस्तों आप से माफ़ी चाहुगा जो की अपना अगला पार्ट पोस्ट कर दी दोस्तों मुझे टाइम नहीं मिल रहा था अपनी कहानी के लिए एक बात और दोस्तों आपका बहुत-बहुत धन्यवाद जो की आप को मेरी कहानी मोटी लड़की की चुद का स्वाद पसंद आई दोस्तों सेक्स चाहे मोटी लड़की के साथ हो या स्लिम लड़की के साथ मगर सेक्स का मजा हर किसी में होता हे बस उसे अपने दिल से अनुभव करो. और दोस्तों नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम की ये साईट का बहुत- बहुत धन्यबाद जिन्होंने मेरी स्टोरी आप तक पहुंचाई ये साईट की साडी स्टोरी बहुत मस्त हे मुझे जब भी टाइम मिलता हे तो इस साईट की स्टोरी पढता हु.. इस साईट के ऑनर का भी.. सॉरी दोस्तों आप का फालतू समय बर्बाद कर रहा हु आप को कहानी अगला पार्ट सुनता हु..
मैंने अपना लैपटॉप बन्द किया और नीचे उतर कर उसकी जांघ पर हाथ रखा और उसके गाल को चूमते हुए बोला- क्या दिखाओगी? उसने भी अपना लैपटॉप बन्द किया और मेरे साथ टॉयलेट की ओर चल दी। आगे आगे मैं था और वो पीछे आ रही थी। टॉयलेट पहुँचने पर वो थोड़ा झिझकी, मैंने उसके कंधे पर हाथ रखा और बोला- सोचो मत, जब कोई आयेगा तो मैं हट जाऊँगा और तुम तुरन्त ही दरवाजा बंद कर लेना। उसने फिर एक बार मेरी तरफ देखा और फिर कुछ सोची और टॉयलेट के अन्दर चली गई। रचना के चूतड़ भी काफी मोटे थी इसलिये उसने कपड़े काफी ढीले पहने हुए थे। अन्दर जाते ही उसने अपनी कुर्ती ऊपर की और नाड़ा खोलकर सलवार नीचे की। उसकी पैन्टी मुझे कुछ गीली लगी तो मैंने उससे पूछा तो उसने शर्माते हुए अपने सिर को हिलाया और पैन्टी
उतार दी। बुर तो उसकी दिख ही नहीं रही थी क्योंकि बालों का एक जंगल सा था उसकी चूत के ऊपर और चारों ओर… इसलिये मैंने उसकी चूत को छुआ। उसकी चूत काफी उभरी हुई थी बिल्कुल पावरोटी की तरह…मैंने इशारे से घुमने को कहा। वो घूमी…उसके नंगे कूल्हों के बीच में केवल एक लकीर सी खींची थी, मैं लकीर इसलिये कह रहा हूँ कि उसकी दरार में पूरी उँगली घुस गई पर गांड का छेद नहीं मिला। उसने भी मेरा लौड़ा देखने की इच्छा
जाहिर की, मैंने उसकी इच्छा पूरी की और नाईट किस के साथ हम लोग अपने बर्थ पर आकर लेट गये। लगभग 3-4 बजे के बीच रचना ने एक बार मुझे फिर जगाया। मेरे पूछने पर वह बोली कि उसे टॉयलेट लगी है और अकेले जाने में डर लग रहा है। मुझे उसकी इस बात से बहुत गुस्सा आया लेकिन गुस्से पर काबू करते हुए मैं उसके साथ टॉयलेट की ओर चल दिया। रास्ते में मैंने पूछा- अगर मैं तुमसे न मिलता तो किसके साथ जाती? तो वो बोली- तब मैं सुबह तक रोक लेती…लेकिन जब से तुम्हारी कहानी पढ़ी है और अब तुम मुझे मिल गये हो तो मैं अपने जिस्म की एक-एक हरकत का मजा तुम्हारे साथ मिलकर लेना चाहती हूँ। फिर वो टॉयलेट में अपने पयजामे को उतार कर पैन्टी को उंगली से साईड करके खड़े होकर मूतने लगी। रात के समय उसके मूत का पीला रंग बिल्कुल कनक (सोना) जैसा लग रहा था। खैर वो मूत के बाहर आई तो मैंने पूछा- तुम खड़ी होकर मूतती हो? वो बोली- नहीं, तुम्हारी कई कहानियों में तुम लड़की को खड़ा करके ही मूतवाते हो तो मेरे दिमाग में यह आईडिया आया कि चलो मैं भी तुम्हारे सामने खड़े होकर मूतूँ! उसकी यह बात सुनकर मेरा गुस्सा कम हो गया और मैं उसके चूतड़ों, जो काफी मखमली से थे, को सहलाते हुए
और वो मेरे पिछवाड़े को सहलाते हुए लोग अपनी बर्थ पर आ गये। सुबह दिल्ली आने के पंद्रह मिनट पहले हम दोनों की आँख खुली, सामान वगैरहा समेट कर हम लोग नीचे साथ साथ बैठ गये और प्लान बनाया कि होटल में हम लोग अलग रूम में रहेंगे। आपस में हम लोगों ने अपने मोबाईल नंबर शेयर किये। प्लेटफार्म से बाहर निकलने के बाद हम लोग स्टेशन के पास एक अच्छे से होटल देख उसी में कमरे बुक कर लिये। हम दोनों के रूम लगभग तीन रूम के बाद
ही थे। रूम में सामान रखा ही था कि रचना का फोन आया बोली- क्या हम लोग चाय साथ में पी सकते हैं? मैंने उसे हाँ बोला, तो वो बोली- जल्दी आईयेगा। मैं समान रखकर उसके कमरे में पहुँचा। खटखटाने पर कौन की आवाज आई। जैसे ही मैंने अपना नाम बताया, रचना ने दरवाजा खोला और दरवाजे की आड़ में हो गई। मेरे अन्दर घुसते ही उसने दरवाजा बन्द कर दिया। जैसे ही मैं मुड़ा तो देखता हूँ कि, उसे देख कर तो मेरी आँखें फटी की फटी ही रह गई, वो बिल्कुल नंगी थी। चूचे तो उसके खरबूजे के आकार के, चूतड़ तरबूज के आकार के, पेट बाहर काफी निकला हुआ, चूत अन्दर की तरफ बालों के जंगलों के बीच घुसी हुई थी। जांघें उसकी काफी मोटी थी। उसके जिस्म में एक आकर्षक जगह थी वो थी उसकी नाभि, ऐसा लग रहा था कि वो भी एक ऐसा छेद है जहाँ लन्ड महाराज यात्रा करना चाहेंगे। मेरे एक टक देखते रहने से वो अपना को अलग-अलग पोज बनाने लगी। इस तरह से उसने मुझे आश्चर्य में डालते हुए अपने जिस्म की नुमाईश पूरी तरह
से कर दी। मैंने कहा- ये क्या है? ‘मैं तुम्हारी बिल्कुल दीवानी हो चुकी हूँ और मेरा मन कर रहा था कि तुम्हें कुछ सरप्राईज करूँ… तो मैंने तुम्हारे लिये अपने जिस्म को बिल्कुल नंगा कर दिया है और मैं जानती हूँ कि तुमने अभी तक जितनी लड़कियाँ चोदी होंगी सब स्लिम होंगी। मैं कुछ बोलने जा ही रहा था कि कमरे की घंटी बजी, रचना दौड़कर बाथरूम में घुस गई, गाउन पहनकर आई, दरवाजा खोला और वेटर से चाय ली और दरवाजा बन्द करके चाय रखकर उसने अपना गाउन फिर उतार दिया और मेरे सामने बैठकर चाय बनाने लगी। ‘हाँ तुम कुछ कहने वाले थे?’ वो
बोली। ‘हाँ…’ कहकर मैंने उसकी तरफ देखा और बोला- ये जंगल क्यों उगा रखा है? और उगाया था तो इसको ट्रिम कराकर रखती। चूत तुम्हारी बिल्कुल गन्दी दिखती है। मुझे झांटों वाली चूत बिल्कुल अच्छी नहीं लगती है। मैं जानबूझकर उससे इन शब्दों में बात कर रहा था। तभी वो बोली- ठीक है, तुम मेरी झांट बना दो और मेरी चूत को साफ और चिकना बना दो। ‘चलो आओ तुम्हारी चूत को चिकना करते हैं, तुम भी क्या याद रखोगी मेरी जान कि किसने तुम्हारी झांट बनाई हैं।’ मैं इतना बोल कर अपने रूम में जाने वाला था कि तभी वो बोली- अच्छा ये बताओ कि क्या तुम अपने लंड के आस पास झांट नहीं रखते हो? ‘बिल्कुल नहीं!’ ‘मुझे दिखाओ न प्लीज!’ वो बोली।
मुझे क्या ऐतराज हो सकता था, मैंने तुरन्त ही अपना लोअर और अन्डरवियर उतार दिया। मेरा काला नाग फनफना कर खड़ा हो गया। ‘वाओ ओ ओ ओ ओ…’ कह कर रचना मेरे पास आई और मेरे नागराज को हाथ में लेकर बोली- वास्तव में तुम्हारा लंड शानदार है। वो मेरा लंड हाथ में लेकर सहला रही थी और मैं उसके गुब्बारे जैसे चूची को उछाल रहा था। दोस्तो जैसा कि मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता कि सामने चुदवाने वाला कौन है। मुझे तो चूत चाहिये होती है चोदने के लिये, वैसा ही हाल था रचना को लेकर। मुझे उसके मोटापे से कोई फर्क नहीं पड़ रहा था। वैसे भी वो मेरे लंड को इतने प्यार से सहला रही थी कि मैं चाय पीना भूलकर केवल उसकी चूची से खेल रहा था या फिर उसके लंबे बालो को सहला रहा था। तभी सहसा मैंने उससे पूछा- तुम कब से पढ़ रही हो और तुम्हें कैसे पता चली? ‘तुम्हें तो मालूम है कि आज का युग इन्टरनेट का है। उसमें सबसे पहले ‘प्रज्ञा संग रंगरेलियाँ’ कहानी थी। उसे मैं उत्सुकतावश पढ़ रही थी, मुझे कहानी अच्छी लग रही थी। धीरे-धीरे मैंने आपकी लिखी कहानियाँ पढ़ी और आपकी फैन बन गई। तभी मुझे याद आया कि हम लोग चाय पीना भूल गये हैं, मैंने इशारे से उसे बताया, लेकिन उसने चाय पर ध्यान
नहीं दिया और मेरे लंड के टोपे में नाखून से कुरेदते हुए बोली- राज जी, अगर आप बुरा न मानें तो एक बात कहना चाहती हूँ। मैं उसके बालों को सहलाते हुए बोला- जानू, जो बोलना है बोलो, अब जो भी तुम कहोगी, वो मैं करने के लिये तैयार हूँ। ‘थैंक्स राज, मुझे जानू कहने के लिये!’ ‘अरे यार, अब ये थैन्कस वैन्क्स रहने दो, बताओ क्या कह रही थी?’ ‘राज जी मैं… चाहती हूँ कि…’ ‘क्या? बोलो?’ मैंने बीच में टोका- हँ-हाँ बोलो! रचना अपनी नजर नीचे करते हुए बोली- जैसे आप आंटी या भाभी को टॉयलेट अपने सामने करने के लिये कहते हैं वैसे ही आप मेरे सामने टॉयलेट करो। मैं उसकी इस अदा पर खूब हँसा। ‘अरे यार, मर्द तो कहीं पर भी खड़े होकर मूतते हैं… तुम तो अक्सर देखती होगी। फिर मैं क्यों?’ ‘प्लीज!’ ‘ओ.के… पर ये टॉयलेट क्या होता है। यार यह बोलो कि मैं आपको मूतते या पेशाब करते हुए देखना चाहती हूँ। ठीक है, लेकिन मुझे पेशाब तुम कराओगी’ अब तक मैं अपने टी-शर्ट को उतार चुका था। कहानी जारी रहेगी।
दोस्तों कहानी पर अपनी राय नॉनवेज स्टोरी पर या मुझे मेल करके जरूर बताये आप के कमेंट प्रकार ही मुझे स्टोरी लिखने का मजा आता हे।
आपका अपना राज
[email protected] com



bhai ne bahan ko Galiyan De dekar choda hindi store बुर बहन सीलMummy ki samuhik chudaijoe la bahu ka xvideo.commarathi sexi vidio bhabhi je sath zabara dasti sexi vidio sauyhbhanji.ko.apni.randi.banaya.kahaniहीदी गांव बिऐफ सुहागरात माँ की गांड चपरासी ने मारीसेकस सला की घर की को चोदाJija sali ki baate hindi storyअंधेरे मे भाई से चुद गईBadi badi Chhati wali sexysex xxx hot भानजी कहानीxxx bibi ne sasur puri tarah seva kari Hindi sex storyOld age aurat hawas gandi kahanimrathisexkhaniबुर की मलाई चैट ली रिश्ते मेंमा कौ चौदकर मजा दियाMummy ko pela padosi ladke ne sex story hindisasu ko codaDamad Ne sas ke Chhod Diya sexysex pe kahaniलंड पुद गांड थानाChhoti bahen ki chudai ki Nai kahani Hindi me /justporno/teacher-sex-teacher-ki-chudai-sex-with-madam-madam-sex-school-sex-story/Madhosh karne wali baate adult in Hindi randi ki tarah chodha mughyie story in hindiViagra khake behan ko chodaसेकस कथाOffec me parmosan ke liye kawari chut cudwai sexy story hindiAnter warna sasur bhu/sex-story-raksha-bandhan-ki-raat-bahan-ke-saath/Mard chota boy ka xxx kahani ratXxx sex Ladki Chupke Chupke Rone Lagibhai ke sale se apni chudai krbai khaniAntrvasna bahu pic storyबगल की दीदी को पेलाAsur bahu chut gand storiesniche Jhuk ke gand marwane wali Malish karwa ke gand marwane wali bhabhi 35 sal ki bhabhiSex story uncle ne mom ka doodh piyaझकास माल की पहली चुदाई कहानीमामी के बेटे कि ओरत साथ सेकस काहानी पडने को बता ओभाभी किये हेल्प से माँ को चूडालङकी पेट के बल लेट कर योनि के निचे कुछ रख कर आगे पिछे घिस ने से चरम आनंद ले सकती हैसिस्टर sayba www.xxx.comभाभी की ब्रा मै मुट्ठी मारी देवर ने गे सेकस साईटchota bhai sexy khaniyama sex kahanibahan ki chudai xxx hinde kahanimera rekha mom se sadi aur sex kahaniSex bab ki pariwarik chudai kahaniyaगामडो कि सेकसी बिपीhaj xxx story hindiलड़के को फौजी ने जबरदस्ती चोदा गे कहानीहोली मे चुदाई बीवी के साथ बहन कीsex story meri dever se bhot chudaimakaan malik ki 15saal ki beti ki chudaidhudh pike chadne ki khanim bhabhi sexy khaneanani ni papa cuday sex sitredidi ke saath rakshabandhan sex storiespati ko chut chatwaya xxx story in hindiMeri bua ke ldke ne mujhe chodaBhai ke sath shimla me sex storiessasur or uska dost dekhe se pela sex storyHindi sex story sister delhi 4rmst cudai khanimarathisexyhindistorysex story didi ke sasur ne ma ko chodadidi ko ngha dekh videoParvarik sex storyअन्तर्वासना मेरी माँ चुदती हुईsax mota land aur gori cut ka v d yo xxxChaci ko need m tach kar garm kiya xxx storyदिवाली पर साले जिजा अदला बदली चुदाई की कहानीxxx aanti our bchayamamme new xxx hindi storeMaa ne meri land ka chamda pichhe karke mujhe mard banayaSekxh bur ki kahanibaap ne apne doston ke sath sauteli beti ko gandi gandi gaaliyan dekar choda sexy storiesdbane se boobs bdte h Jija ji ne mujhe galti se chod diya sex storiesAngry bro ने Sis ke xxx story hindidesi garl and principal xacxxy videoMami ko barish mein choda porn storyBarish me bheega bheega sex didi k sathसेक्स स्टोरी मम्मी को चोदा उसकी बिजनेस पार्टनरचुत मारी बेटे ने जबरदस%dibali me cudane ki kahani